• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

(Bikapur/ Faizabad, 16 Apr), तहसील बीकापुर परिसर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है । तहसील में  कभी डीएम के आगमन की सूचना पर तहसील प्रशासन द्वारा कुछ चुनिंदा स्थानों तक ही स्वच्छता अभियान चला दिया जाता है। एसडीएम बीकापुर रवि प्रकाश श्रीवास्तव के मुताबिक तहसील बीकापुर में एक दशक पूर्व में तैनात रहे सफाई कर्मी दंपत्ति के सेवानिवृत्त होने के बाद से राजस्व विभाग द्वारा अभी तक किसी सफाई कर्मी की नियुक्ति नहीं किया गया। तहसील की स्वच्छता व्यवस्था नगर पंचायत में तैनात सफाई कर्मियों के सहारे चल रही है। एसडीएम ने बताया कि  18 अप्रैल को घोषित स्वच्छता दिवस में ब्लाक बीकापुर के दलित बस्ती भीखी सराय को स्वच्छ बनाने का कार्यक्रम बनाया है ।शेष क्षेत्र की स्वच्छता राम भरोसे है।

            तहसील परिसर स्थित पूर्ति निरीक्षक कार्यालय के पास हॉट निरीक्षक गोदाम कार्यालय जो कभी गेहूं खरीद केंद्र रहा है। सरकारी अधिकारियों एवं स्थानीय प्रशासन की उदासीनता के चलते सरकारी भवन पेशाब घर के रूप में तब्दील हो गया है । जहां गंदगी का अंबार लगा है । इस रास्ते से पूर्ति निरीक्षक कार्यालय आने जाने वाले नागरिकों को बरबस नाक दबाकर गुजरना पड़ता है । यही नहीं पुरानी तहसील से लेकर पूर्ति निरीक्षक कार्यालय के आस-पास जुआरियों शराबियों एवं गलत कार्यों में लिप्त लोगों का जमावड़ा भी रहता है । जिन्हें स्थानीय पुलिस प्रशासन व राजस्व प्रशासन का कोई डर नही रह गया है। जो आए दिन किसी न किसी घटना को अंजाम दिया करते हैं । तहसील परिसर में ही सांसद निधि से कभी स्वच्छ शौचालय लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया था ।जो अब जर्जर होने के साथ-साथ गंदगी में तब्दील हो गया है । सुलभ शौचालय में जुआरियों का अड्डा दिनभर जमा रहता है । सूत्र बताते हैं इन्हें स्थानीय कोतवाली पुलिस का संरक्षण प्राप्त है।