• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

Photo Caption: clipart :: Photo Grapher : ayodhya samachar



(Faizabad, 16 Apr),  हैदराबाद की मक्का मस्जिद में 2007 में हुए विस्फोट में नामपल्ली कोर्ट के द्वारा सभी आरोपितों को बरी किये जाने पर विहिप ने तत्कालीन यूपीए सरकार पर सवाल उठाया है। विहिप प्रवक्ता ने कहा कि भगवा आंतकवाद की बात कहकर कांग्रेस वास्तविक अपराधियों को बचा ले गयी। इसके लिए तत्समय के गृहमंत्री पी चिंदम्बरम जिम्मेदार थे।

            उन्होने कहा कि हिन्दू व भगवा आंतकवाद का नाम लेकर कांग्रेस ने निर्दोष लोगो गिरफ्तार किया। कांग्रेसी अब जवाब दे कि असली अपराधी कौन थे। उनको किसके इशारे पर बचाया गया। हमारे यहां कहा गया है सत्य परेशान हो सकता है लेकिन पराजित नहीं। जो न्यायालय के आदेश में दिखाई दिया।

कोर्ट ने आरोपितो को किया बरी - हैदराबाद की मक्का मस्जिद में हुए विस्फोट के मामले में मुख्य आरोपी स्वामी असीमानंद समेत नबा कुमार सरकार, भारत मोहनलाल, राजेन्द्र चौधरी को अदालत ने पर्याप्त सबूत न होने के कारण बरी कर दिया। ब्लास्ट में नौ लोगो की मौत हो गयी थी तथा करीब 58 लोग घायल हो गये थे।