• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

Photo Caption: जमा भीड :: Photo Grapher : Ayodhya Samachar

  • 2
  • jquery image carousel
  • 3
bootstrap slideshow by WOWSlider.com v8.8

पुलिस की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह, ग्रामीणों का पिटाई का आरोप


गांव के तीन लोगो के खिलाफ गैरइरातदन हत्या का मुकदमा दर्ज


(Kuamrganj/ Faizabad, 11 Mar), थाने से निकलने के कुछ ही समय बाद चोरी के आरोपी की मौत हो गयी। युवक की पिटाई कब और कहां हुई यह संदेह के घेरे में है। मामले में पुलिस की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिन्ह लगा। फिरहाल पुलिस ने गांव के तीन लोगो के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की धारा में मुकदमा दर्ज किया। मृतक पर इन्हीं के यहां चोरी करने का आरोप है। 


थाने से ही मिली जमानत - शनिवार की शाम को डीली सरैया निवासी सुनील कुमार पुत्र रामसहाय ने 100 नम्बर पर सूचना दी कि युनिस उनके घर में चोरी के इरादे से घुसा है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने युनिस को थाने ले गयी जहां सुनील की तहरीर पर युनिस पुत्र खुदाबक्श के खिलाफ चोरी का मुकदमा पंजीकृत कर लिया। सुबह उसे थाने से ही जमानत दे दी गयी।


थाने से कुछ ही दूरी पर हुई उसकी मौत - यूनिस थाना क्षेत्र के जगदीशपुर निवासी विश्वनाथ के यहां मजदूरी करता था। थाने से मुचलके से जमानत देकर विश्वनाथ को युनिस को सौप दिया गया। विश्वनाथ के अनुसार पुलिस ने उससे युनिस का इलाज कराने की सलाह दी थी। वह थाने से इलाज के लिए ले जा रहा था कि रास्ते में उसकी मौत हो गयी। पुलिस ने चोरी की शिकायत करने वाले सुनील, दुर्गा प्रसाद व रिंकू के खिलाफ गैरइरादतन का हत्या दर्ज कर लिया। 


सवाल पिटाई कहां हुई, पुलिस ने उसे अस्पताल क्यों नहीं पहुंचाया - घटना में पुलिस की पूरी कार्यशैली सवालो के घेरे में रही। ग्रामीण सवाल पूछ रहे थे कि युनिस की पिटाई कहां हुई। अगर गिरफ्तारी के दौरान युनिस घायल था तो पुलिस ने उसे अस्पताल क्यों नहीं पहुंचाया। आखिर उसे अफरातफरी में निजी मुचलके पर रिहा क्यों कर दिया गया।


मौके पर जमा हुई भीड़, ग्रामीणों में दिखा पुलिस के प्रति रोष - घटना के बाद एक पूर्व प्रधान के नेतृत्व में भारी भीड़ जमा हो गयी। भीड़ पुलिस के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग कर रही थी। पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करके भीड़ को हटया। मौके पर एसपी आरए संजय कुमार, मिल्कीपुर सीओ समेत आधा दर्जन थाने की फोर्स पहुंच गयी थी।