• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

सर्किट हाउस पहुंचने पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने किया जोरदार स्वागत


(Faizabad, 8 Feb),  सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा बुधवार की देर शाम सर्किट हाउस पहुंचे। जहां महापौर ऋषिकेश उपाध्याय व जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल की अगुवाई में उनका जोरदार स्वागत किया गया। स्वागत के उपरांत सहकारिता मंत्री ने पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर अब तक सम्पन्न हुए सहकारी समितियों के चुनाव बाबत चर्चा की।

            चर्चा में जिलाध्यक्ष अवधेश पाण्डेय बादल ने बताया कि 73 समितियों में 75 प्रतिशत भाजपा का कब्जा हुआ है। जिसमें सहकारी संघ प्रतिनिधि, बैंक प्रतिनिधि, इफ्को, कृभको, क्रय विक्रय प्रतिनिधि आदि पर भाजपा का परचम लहराया। प्रबन्ध समिति के सदस्यों का नामांकन संघ केन्द्र पर आज हुआ है। अब पार्टी की निगाह सहकारी बैंक के डायरेक्टर पर है। ज्यादा से ज्यादा डायरेक्टर चुनकर आयेंगे तभी सभापति की सीट पर भाजपा का कब्जा होगा। इसके लिए रणनीति बनायी जा रही है।

            सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने कहा कि भाजपा की सरकार गरीबो व वंचितों के हितों की रक्षा के लिए काम कर रही है। किसानो व मजदूरो के हितो के लिए कई योजनाएं प्रदेश सरकार ने दी है। जिसका असर भी अब दिखाई दे रहा है। सहकारिता के क्षेत्र में अब पूरी तरह से पारदर्शिता है। महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहा कि सहकारिता के चुनाव में भाजपा को 75 प्रतिशत सीटो पर कब्जा जनता के बीच भाजपा की स्वीकारोक्ति को प्रदर्शित करता है। 2019 में भाजपा फिर से प्रचंड जीत की ओर आगे बढ़ रही है। इस अवसर क्षेत्रीय संगठन मंत्री बृजबहादुर, क्षेत्रीय मंत्री अमित तिवारी, सहकारिता चुनाव प्रभारी इन्द्रभान सिंह, धमेन्द्र प्रताप सिंह टिल्लू, ओम प्रकाश सिंह, कृष्णकुमार पाण्डेय खुन्नू, डिप्पुल पाण्डेय, इंजीनियर रणवीर सिंह, दिव्य प्रकाश तिवारी, दिवाकर सिंह, वासुदेव मौर्या, परमानंद मिश्रा इत्यादि मौजूद रहे। सर्किट हाउस से सहकारिता मंत्री को बीकापुर के दिवंगत भाजपा नेता संतोष शर्मा के यहां श्रद्धांजलि देने के लिए निकल गये।

  • बेवसाईट पर प्रकाशित सभी लेख अयोध्या समाचार के लेखकों के द्वारा लिखे गये है। जिनका सर्वाधिकार बेवसाईट की प्रबंध समिति के पास सुरक्षित है। बिना लिखित अनुमति के वेबसाइट पर मौजूद लेख, फोटो या अन्य सामग्रियों को किसी भी स्वरूप में (प्रिंटिंग या सोशल मीडिया) प्रकाशित , प्रसारित या वितरित करना गैर कानूनी है। प्रतिलिप्यिधिकार अधिनियम 1957 तहत ऐसा करना दंडनीय है।

  • Article Viewed By :
  • 1251