• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

इनायतनगर में हुई थी एक साल पहले युवक की हत्या, पीड़ित था प्रत्यक्षदर्शी


चार नामजद के खिलाफ मुकदमा दर्ज, नये साल पर जिले में बढ़ा अपराधों का ग्राफ


(Faizabad, 11 Jan),  उसकी जुबान इसलिए काट दी गयी। क्योकि उसने सच बोलने हिम्मत दिखाई थी। पुलिस को उनके नाम बताये थे जिनके हाथ किसी युवक के खून सने थे। पलिया प्रतापशाह गांव के रहने वाले 38 साल के जनकराज सिंह जिला चिकित्सालय में अपना इलाज करा रहे है। अपने साथ घटना को अंजाम देने का नाम वह लिखकर बताते है। जुबान काटने वाले ने चुनौती भी दी थी कि अब जाकर बताओं कि हमारे खिलाफ बोलने का यह अंजाम होता है।

            9 जनवरी की रात जनकराज सिंह अपने खेत की सिंचाई कर रहे थे। जनकराज सिंह के भाई अजीत सिंह ने बताया कि रात में गांव के चार लोग नान्हू यादव, बलराम यादव, रवि सिंह, राम स्वरुप मौके पर पहुंचे व नान्हू यादव ने उसके भाई की जुबान काट दी। इसके बाद चारो मौके से फरार हो गये।

            उसने बताया कि लगभग एक वर्ष पूर्व तहसील कर्मी हरिश्चंद्र तिवारी के ३० वर्षीय बेटे जितेंद्र तिवारी की गोली मारकर हमलावरों ने हत्या कर दी थी और मोटरसाइकिल पर सवार होकर भाग निकले थे। घटना को उसके भाई ने अपनी आंखो से देखा था। पुलिस के पूछने पर उसने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी तथा नान्ह यादव का नाम भी बता दिया। जिसको लेकर नान्ह यादव ने जनकराज से खार खाये हुआ था। एसपी ग्रामीण संजय कुमार ने बताया कि मामले कड़ी कारवाई करने के लिए थाने को निर्देशित किया गया है। पीड़ित की सुरक्षा की व्यवस्था की जायेगी।