• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

हाल में एक ठेकेदार पर गोली चलाने व ठेकेदार के मैनेजर व सुपरवाईजर व हमले का था आरोप


पूछताछ में कई सक्रिय अपराधियों की मिली जानकारी, गहन जांच में जुटी पुलिस


(Faizabad, 11 Jan),  ठेको पर वर्चस्व को लेकर चल रहे संगठित अपराध पर पुलिस ने कारवाई की है। 18 दिसम्बर में ठेकेदार अनंत बहादुर सिंह पर फायरिंग के आरोपी संजय सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। संजय सिंह 25 हजार का इनामी है। पुलिस को उसकी काफी दिनो से तलाश थी। जिले के कई थानो पर उसके उपर 19 मुकदमें दर्ज है तथा गुण्डा एक्ट व गैंगस्टर की कारवाई भी हो चुकी है। इससे पहले 2 दिसम्बर को संजय सिंह के उपर ठेकेदार गोपेश अग्रवाल के मैनेजर व सुपरवाईजर पर जानलेवा हमला का भी आरोप था। जिसको लेकर ठेकेदार संघ ने धरना प्रदर्शन भी किया था।

            मामला मिल्कीपुर में करीब तीन करोड़ के ठेके से जुड़ा हुआ था। ठेकेदार अनंत बहादुर सिंह के अनुसार पहले उन्हे ठेका न लेने का धमकी दी गयी। जब विभागीय शर्तो के अनुसार उन्होने टेंण्डर हासिल कर लिया तो उन्हें कमीशन के लिए धमकी दी जाने लगी। जिसकी सूचना उन्होने पुलिस को दी थी। मामले में पुलिस जांच कर रही थी इसी बीच खौफ बनाने के लिए उनपर फायरिंग की गयी।

            एसएसपी सुभाष सिंह बघेल ने बताया कि संजय सिंह के उपर इनायतनगर व कैंट थाने में ठेकेदारी विवाद को लेकर दो मुकदमें दर्ज हुए थे। संजय सिंह के उपर पहले से 25 हजार का इनाम था और वह फरार था। संजय की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की टीमें लगायी गयी थी। जिसे 11 दिसम्बर को बिना नम्बर की सफारी कार व अवैध पिस्टल व कारतूस के साथ गिरफ्तार किया गया। संजय के उपर जिले के विभिन्न थानो में 19 मुकदमें दर्ज थे।