• Home
  • |
  • Contact Us- 9454800865, 9454853267
  • |

Photo Caption: Ayodhya :: Photo Grapher : Ayodhya Samachar

  • 2
  • jquery image carousel
  • 3
bootstrap slideshow by WOWSlider.com v8.8

12 में से केवल दो समरसेबल ही लगे


गम्भीर पानी संकट से जूझ रहा है मेडिकल कालेज


@ Manish Mishra


(Ambedkar Nagar, 11 Jan),  महामाया राजकीय एलोपैथिक मेडिकल कालेज में  पानी का संकट यूँ ही नही है।राजकीय निर्माण निगम व कालेज प्रशासन की लूट खसोट की नीति ही इस बदहाली के लिए जिम्मेदार है। मेडिकल कालेज को लूटने में लगे निर्माण निगम ने कॉलेज प्रशासन की मिलीभगत से पानी पर भी डाका डाल रखा है। इस डाके का दंश पूरा मेडिकल कालेज झेल रहा है।हालात यह है कि न तो मरीजो को पानी मिल पा रहा है और न ही शौचालयों में ही पानी की आपूर्ति हो पा रही है।
जानकारी के अनुसार मेडिकल कालेज में सुचारू जलापूर्ति के लिए चार बड़े व आठ छोटे समरसेबुल लगाए जाने थे।इन समरसेबलो को लगाने के लिए बोरिंग तो करायी गयी पर केवल दो ही समरसेबल लगाए गए हैं ।शेष 10 स्थानों पर अभी तक बोरिंग में पम्प नही लगाया जा सका है।इसका परिणाम यह है कि पूरा मेडिकल कालेज हर समय गम्भीर जल संकट से जूझता रहता है। हैरत की बात यह है कि मेडिकल कालेज प्रशासन भी इस गम्भीर मसले पर चुप्पी साधे हुए है।इसके कारण ही कालेज प्रशासन की भूमिका शक के दायरे में है। इस सम्बंध में राजकीय निर्माण निगम के सहायक प्रोजेक्ट मैनेजर रामफल का बयान भी कम मजेदार नही है। जब उनसे समर सेबल के बारे में पूछा गया तो उन्होंने का की वह एक साल से ही तैनात हैं।इसलिए उन्हें इसकी जानकारी नही है।क्या यह सम्भव है कि जो अधिकारी किसी स्थान पर एक साल से तैनात हो और वँहा पानी संकट के लिए हाय तौबा मची रहे तो उसे इसके प्रबंधन की ही जानकारी न हो।साफ है कि पानी के नाम पर भी लाखो का घोटाला किया गया और उसे हजम कर लिया गया।